जानिए किस कारण से होता है उच्च रक्तचाप-क्या है इस बीमारी के लक्षण और बचाव के नुस्खे?

DIABETES HEALTH INSURANCE



इस बीमारी में ब्लड प्रेशर 140 के उपर पहुँच जाता है| शरीर में जो धमनियो के दीवारों से जो रक्त फैलता उसे रक्तचाप कहते हैं| अक्सर दिनभर में रक्तचाप अनेक बार बढ़ता और कम होता है, परंतु अगर यह लंबे अंतराल तक अधिक रहता है तो यह सेहत के लिए हानिकारक हो सकता हैं| इस समस्या के कारण ह्रदय रोग, हार्ट फेल्यूर और स्‍ट्रोक जैसी अनेक बीमारियाँ हो सकती हैं|

डॉक्टरों के अनुसार हाइपरटेंशन का मुख्य कारण लाइफस्टाइल से जुड़ी आदतें हैं जिसके कारण और बीमारियाँ भी हो सकती हैं| अगर हाइ ब्लड प्रेशरहो जाए उसके बाद दवाइयां खानी पड़े उससे बेहतर हैं की इस बीमारी से बचने के लिए हम एहतियात बरते|

समय पर भोजन ना लेना, लंबे समय तक स्मर्टफ़ोने का प्रयोग करना और व्यायाम ना करना-इन सब आधुनिक जीवनशैली के कारण उच्च रक्तचाप का ख़तरा बढ़जाता है| इनके अलावा और भी कुछ कारण हैं जिनके लिए आप ज़िम्मेदार नही होते जैसे लिंग, उम्र, जीवनशैली इत्यादि|

हाइपरटेंशन होने के कारण

तनाव है इस बीमारी का सबसे बड़ा कारण :

आज के आधुनिक युग मे हर कोई स्ट्रेस से ग्रस्त है| पहले यह बीमारी बुज़ुर्गो में पाई जाती थी परंतु अब यह युवको और बच्चों को भी होने लगी है| नौकरीपेशा लौग दफ़्तर के काम से स्ट्रेस में रहते हैं वही ग्रहणीजिन्हे घर संभालने का स्ट्रेस होता है| स्ट्रेस के कारण ब्लड प्रेशर बढ़ाने वाले हॉर्मोन्स रिलीस होते हैं जिसके कारण रक्त वाहिकाएं पर दबाव पड़ने लगता है और ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है| उच्च रक्तचाप के रोगी को तनाव से दूर रहना चाहिए|

>> Check: हाई बीपी क्या है?

सिग्रेट और शराब का सेवन :

अगर आप कभी कभार सिग्रटते पी मीट हैं तब भी आपको हाइपरटेंशन हो सकता है| सिग्रेट में निकोटिन कोशिकाओ को संकोचित कर देता है | ज़्यादा मात्रा में शराब का सेवन भी आपको हाइपरटेंशन का शिकार बना सकता है| प्रतिदिन 1 या 2 ग्लास से अधिक मात्रा में शराब का सेवन ना करे|

ब्लड प्रेशर के बढ़ने से हो सकती हैं ये समस्यायें

एनेउरिज्‍म (अनेयीसम) :

ब्लड प्रेशर के बढ़ने से कोशिकायं कमज़ोर हो जाती हैं और ये एनेउरिजम का रूप ले लेती हैं| यह काफ़ी ख़तरनाक हो सकता है|

हार्ट फेल्यूर:

इस स्मास्या से कोशिकायो पे ज़्यादा दबाव पड़ता है जिसके कारण ह्रदय की मांसपेशियां भारी हो जाती हैं| इस कारण शरीर की ज़रूरत के मुताबिक रक्तप्रवाह नही होता जिससे हार्ट फेल्यूर हो जाता है|

शरीर का किसी भी अंग से पूरी तरह काम ना करना:

अंगो का काम ना कर पाना किडनी में रक्त वाहीकायो को कमज़ोर बना देता है जिसके कारण कई अंग काम करना बंद कर देते हैं|

उच्च रक्तचाप को बिना किसी दवाई के प्रयोग से भी सामान्य स्तर पर लाया जा सकता है| इसके लिए ज़रूरी है अपनी जीवन शैली बदलाव लाना| यदि आप अपने जीवन में निम्न बदलाव लाते हैं, तो आप इस ख़तरनाक बीमारी से निजात पा सकते हैं| हाइपरटेंशन से बचना है तो अपने वज़न को बढ़ने ना दे| नियमित व्यायाम से हाइपरटेंशन को कम किया जा सकता है| व्यायाम करने से डिंमग को शांति मिलती है जिससे मानसिक तनाव कम हो जाता है| सिगरेट का सेवन हमारी रक्त वाहिकाओं के लिए हानिकारक है| इसे आदत को छोड़ने से हाइपरटेंशन को कम किया जा सकता है|